Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana: पात्रता, लाभ, आवेदन एवं सम्पूर्ण जानकारी

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana भारत सरकार द्वारा चलायी जाने वाली एक योजना है, जिसका उद्देश्य गरीब एवं बीपीएल परिवारों की मदद करना है। योजना को साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में शुरू किया गया था। तब से अब तक समय समय पर भारत सरकार द्वारा गरीब कल्याण के लिए इस योजना के अंतर्गत विभिन्न सरकारी योजनाओ का संचालन किया गया है।

pradhan mantri garib kalyan yojana

भारत में कोरोना काल की परिस्थिति में सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों की मदद करने के लिए Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ किया।

केंद्र सरकार द्वारा लॉक डाउन में लोगों को होने वाली आर्थिक समस्या को ध्यान में रखते हुए 26 मार्च 2020 को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की गयी। इस योजना का लाभ देश के लगभग 80 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा।

देश के वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने इस बात की जानकारी दी की इस आपदा के समय एवं लॉक डाउन को देखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रकार की जन कल्याण योजनाओं की शुरुआत की गयी है।



गरीब कल्याण योजना का विस्तार

लॉक डाउन ओर कोरोना काल को देखते हुए केंद्र सरकार ने Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana की अवधि को बढ़ाने का फैसला लिया है। योजना की अवधि बढ़ाने की घोषणा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 30 जून 2020 को देश के नागरिकों को संबोधित करते हुए की थी।

इस योजना की अवधि को 5 महीने बढ़ाकर अब नवम्बर 2020 तक कर दिया है। योजना के विस्तार के लिए 90 हज़ार करोड़ रुपये खर्च होंगे।


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में मिलने वाला लाभ (PM Garib Kalyan Yojana Benefits)

सरकार द्वारा शुरू की गई इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) का लाभ देश के राशन कार्ड धारक को मिलेगा। Pradhan Mantri Jan Kalyan Yojana के अनुसार नवम्बर 2020 तक राशन कार्ड धारक परिवार के हर सदस्य को पाँच किलो गेंहू या पांच किलो चावल और चना एवं दाल दी जायेगी।

सरकार द्वारा योजना के विस्तार के लिए जून माह में करीब 201 लाख टन का अनाज आवंटित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत अगर आप किसी दूसरे राज्य में है और आपका राशन कार्ड दूसरे राज्य का है तो भी आपको इसका लाभ मिलेगा।

इस योजना के अंतर्गत वह महिलाएं जिनके खाते जान धन योजना में खुले थे उन्हें 500 रुपये माह दिए जा रहे हैं।


आत्मनिर्भर पैकेज की घोषणा

देश के प्रधानमंत्री द्वारा 12 मई 2020 को 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की गई। इस योजना के अनुसार प्रवासी मजदूरों को जिनके पास राशन कार्ड नही हैं उन्हें 5 किलो गेंहू या चावल और 1 किलो चना दो महीने तक दिया जायेगा।

आत्मनिर्भर पैकेज की इस योजना में 8 करोड़ प्रवासियों को फायदा होगा और इसमें करीब 3500 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉक डाउन की स्थिति को देखते हुए 20 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज का एलान किया है। इस राहत पैकेज का लाभ देश के गरीब परिवारों को मिलेगा।

कोरोना आपदा एवं लॉक डाउन की इस स्थिति में सरकार अन्य योजनाओं के माध्यम से भी नागरिकों की मदद कर रही है परन्तु इस राहत पैकेज के माध्यम से नागरिकों को मिलने वाली धनराशि को सीधे लाभार्थी के बैंक एकाउंट में हस्तांतरित कर दिया जायेगा।

वित्तीय मंत्रालय के अनुसार 22 अप्रैल 2020 तक Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के अंतर्गत करीब 33 करोड़ से अधिक गरीबों को 31,235 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई है।


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत शुरू की गयी विभिन्न योजनाएं

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण बीमा योजना

कोरोना की इस आपदा में सबसे ज्यादा हिम्मत का काम डॉक्टर और नर्स कर रहे हैं। भारत सरकार ने उनके हितों को ध्यान में रखते हुए बीमा योजना की घोषणा की है।

योजना अनुसार सरकार द्वारा चिकित्सा क्षेत्र में काम करने वाले सभी कर्मचारी जैसे चिकित्सक, नर्स, एवं अन्य स्टाफ कर्मचारियों को 50 लाख रुपये तक का बीमा उपलब्ध करवाया जाएगा।

इस योजना को 30 मार्च को 90 दिनों के लिए शुरू किया गया था, लेकिन अब इस योजना को 90 दिन और आगे बड़ा दिया गया है। 

इस योजना का उद्देश्य चिकित्सा के क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के मनोबल को बढ़ाना है ताकि वे इस कोरोना आपदा से लड़ने में देश की मदद कर पाएं।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana दिव्यांग पेंशन के अंतर्गत मिलने वाला लाभ

इस योजना के अनुसार कोरोना की आपदा में सरकार द्वारा बुजुर्गों एवं दिव्यांगों को 3 महीने तक 1000 रपए माह की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी।इस योजना का लाभ देश के 3 करोड़ नागरिकों को मिलेगा।

दीनदयाल योजना

सरकार द्वारा स्वयं सहायता समूह में कार्यरत महिलाओं को मिलने वाली लोन की राशि की में अब संशोधन करा गया है। पहले यह राशि 10 लाख रुपये तक सीमित थी लेकिन अब इसे बड़ा कर 20 लाख रुपये तक कर दिया गया है।

इसके अलावा वे महिलाएं जिनके खाते जान धन योजना के अंतर्गत खुले थे उनके खातों में कोरोना की इस स्थिति में तीन माह तक हर माह 500 रुपये हस्तांतरित किये जायेंगे।

एलपीजी गैस एवं बीपीएल गैस योजना

कोरोना के चलते सरकार द्वारा प्रारम्भ में 21 दिन का लॉक डाउन किया गया। इन परिस्थितियों में देश के गरीब परिवारों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने सभी बीपीएल धारकों को तीन एलपीजी गैस सिलेंडर मुफ्त प्रदान करने की घोषणा करी है। योजना के अंतर्गत 8.3 करोड़ लाभार्थी इसका लाभ उठा पाएंगे।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के अंतर्गत ही गरीब कल्याण रोजगार योजना का शुभारम्भ किया गया है। इस योजना का उद्देश्य गरीब एवं बीपीएल धारकों को रोजगार प्रदान करना है। सड़क निर्माण, पुल निर्माण जैसे अन्य कार्यों के माध्यम से लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान किये जा रहे हैं।

हमने इस पेज पर Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के अंतर्गत आने वाली विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया है। हम आशा करते हैं की यह जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी। अगर आपके मन में किसी भी योजना से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं।

Leave a Comment

0 Shares
Tweet
Share
Share
Pin